गर्भसंगीत (हिंदी ऑडिओ सीडी)

Rs.315.00
गर्भसंगीत (हिंदी)

गर्भसंगीत (नई हिंदी ऑडिओ सीडी)
भाषा:- हिंदी
साहित्य:- नीचे देखीये
देनमूल्य:- रु. ३१५ /-( कूरियर चार्जेज जादा)

मंत्रों, शास्त्रीय संगीत और नादशक्ति के ज़रिए गर्भस्थ शिशु के सुरीले स्वागत और संस्कार के लिए!

अनुसंधान और संकल्पना:- श्री. गजानन केलकर
संगीत संकल्पना:- श्रीमती अंजली मालकर
संगीतकार:- श्री किशोर कुलकर्णी
निवेदन:- सौ. प्रज्ञा केलकर

विशेषता:--
गायत्री मंत्र:- श्री सुधीर जी फडके
गर्भोपनिषद पाठ:- श्री दिनकर जोशी
श्‍लोक गायन और संगीत:-श्री किशोर कुलकर्णी और समुदाय
शास्त्रीय गायन:- श्रीमती अंजली मालकर
संगत:- पखबाज-श्री प्रसाद जोशी
तबला:-श्री विवेक भालेराव
बाद्य-बासुरी:-श्री संदीप कुलकर्णी
संतूर:-श्री दिलीप काले
सितार:-श्रीमती संध्या फडके
संगीत नियोजन:- श्री मिलिंद गुणे
ध्वनि मुद्रण:- श्री ओंकार केलकर, शिवरंजनी स्टुडियो, पुणे

मनशक्ति द्वारा इससे पहले तैयार किए गए गर्भ संगीत का लोकार्पण दिनाँक ८ नवंबर, २००२ को डॉ. स्नेहलता जी देशमुख जी के करकमलों से सम्पन्न हुआ था। पिछले बारह वर्षों में वैज्ञानिकों को गर्भ में अधिक सूक्ष्मता के साथ झाँकने का अवसर मिला। नए-नए अनुसंधान सामने आए। गर्भस्थ शिशु की आवश्यकताएँ अधिक विस्तार से समझ आई। इन सभी अनुसंधानों के आधार पर यह नया गर्भ संगीत तैयार किया गया है। इसमें तीन सीडीज् का समावेश है, जिन्हें गर्भवती स्त्री को सुनना होगा। गर्भस्थ शिशु की बदलती हुई आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक तिमाही (ट्रायमेस्टर) में एक सीडी के रूप में यह गर्भ संगीत तैयार किया गया है।

गर्भ संगीत के कारण गर्भस्थ शिशु के मस्तिष्क को गति मिलती है। विशेष रूप से दाहिना मस्तिष्क अधिक उद्दीपत होता है। परिणामस्वरूप मस्तिष्क के दोनों भाग यांनी दायां और बायां मस्तिष्क दोनों अधिक सक्षम बनते हैं। इससे शिशु की निर्णय प्रक्रिया बेहतर बनती है। वह एकांगी निर्णय नहीं लेता और उसकी सीखने की क्षमता भी बढ़ती है।

इसलिए गर्भोपनिषद, गायत्री मंत्र आदि से लेकर सामाजिक एकता का संदेश देनेवाली वैदिक ऋचाओं का सुरीला गायन भी इस सीडी में सुना जा सकता है। इस पुस्तक में संस्कृत के श्‍लोकों और मंत्रों के साथ उनका अर्थ भी दिया गया है। अर्थ को समझते हुए ऋचाओं और श्‍लोकों को सुनना चाहिए।

गर्भवती महिलाओं और गर्भस्थ शिशु के साथ ही गर्भ संगीत की सीडीज् अन्य लोगों के लिए भी उपयुक्त हैं। उदाहरणार्थ मन में यदि तनाव हो, तो शांत रस की सीडी क्र. १ और २ उपयोगी होगी और मन में यदि निराशा हो, तो वीर रस की तीसरे क्रमांक की सीडी चैतन्य और उत्साह निर्माण करेगी।

&nbsp

Videos to be uploaded shortly.

Videos to be uploaded shortly.

Machine Tests &
Psycho-Feedback Therapy

(with prior appointment only)
For booking, please contact on
+91-2114-234320/21/22
(Mon. to Fri. - 9 am to 12 noon)

View Catelogue.jpgView